Shaitani Taaqat Se Hifazat Ka Naqsh

Shaitani Taaqat Se Hifazat Ka Naqsh

Shaitani Taaqat Se Hifazat Ka Naqsh ,” yadi koi shaksh kisi jinnaat, bhoot-pret, ya kisi saitaani taaqat ke chakar mein padh gaya ho to diye gaye naqsh ko kore kaagaz par kali syahi se mile ulloo ke khoon se likhakar, uski batti banakar sarson ke tel ke deepak mein jalaen | jis par shaitaani taaqat ka saaya hai use deepak ki loh par nigaah rakhane ko kahe | us shaksh ke oopar jo bhi shaitaani taaqat hogi wo use dikhai degi aur sach sach bolkar waha se bhaag kadi hogi |

jinnaat, bhoot-pret ya kisi shaitani taaqat se chutakara paane ke liye ye naqsh aur taaveez bahut hi kaamayab aur asardaar hai | iske ek hi istemaal se wo shaksh ki haalat mein sudhaar aa jaata hai

Shaitani Taaqat Se Hifazat Ka Naqsh In Hindi

यदि कोई व्यक्ति किसी जिन्नात, भूत-प्रेतों, या किसी सैतानी ताक़त के चकर में पढ़ गया हो तो दिए गए नक़्श को कोरे कागज़ पर काली स्याही से मिले उल्लू के खून से लिखकर, उसकी बत्ती बनाकर सरसों के तेल के दीपक में जलाएं | जिस पर शैतानी ताक़त का साया है उसे दीपक की लो पर निगाह रखने को कहे | उस शक्श के ऊपर जो भी शैतानी ताक़त होगी वह उसे दिखाई देगी और सच सच बोलकर वह से भाग कड़ी होगी |
जिन्नात, भूत-प्रेतों या किसी शैतानी ताक़त से छुटकारा पाने के लिए यह नक़्श और तावीज़ बहुत ही प्रभावशाली है कामयाब है | इसके एक ही इस्तेमाल से पीड़ित शक्श की हालत में सुधार आ जाता है

Leave a Reply

Your email address will not be published.